खूबसूरत प्यार :-Beautiful Hindi Love Story By Sonam Satya

( खूबसूरत प्यार )

सपनों से भी खूबसूरत जिंदगी जीने वाली ( माही ) हर तरह की ऐशो आराम माही की जिंदगी में होती है और जिंदगी की जो सबसे खास चीज होती है ( किसी का सच्चा प्यार ) वो सच्चा प्यार भी माही की जिंदगी में होता है बचपन से ही ।

माही के बचपन का ही दोस्त (मीत ) जो की बचपन से ही माही को बेहद प्यार करता है , मगर माही अपने इस सच्चे प्यार से अंजान एक बेफिक्री में जिंदादिली में अपनी जिंदगी को बहुत ही खूबसूरती से जीने में लगी होती है , माही का ड्रीम है एक बहुत बड़ी टॉप मॉडेल बनने का , जिसको पूरा करने के लिये माही सूरत से मुम्बई आती है। माही अपने इस ड्रीम को पूरा करने में इतना खो जाती है की उसके अपने सबसे प्यारे दोस्त के सच्चे प्यार का जरा भी अहसास नहीं हो पाता, मीत ने कई बार माही को प्रपोज करने का सोचा मगर माही के सपने हर बार माही को मीत से दूर कर देते ।
माही मुम्बई आकर अपने सपनों को जीने लगती है , वो अपनी खूबसूरत सी दुनियाँ में इतना खो जाती है की उसको अपनी जिंदगी में आने वाले सबसे बड़े खतरे का अहसास ही नहीं होता । एक दिन मोडेलिंग करते वक्त माही बेहोश होकर गिर जाती है , माही को हॉस्पीटल में अड्मिट कराया जाता है । माही के होश में आने पर उसके मम्मी पापाजी उसके पास बैठे रो रहे होते हैं , माही उनको ऐसे देख कर थोड़ा घबरा जाती है , माही कुछ पूछती इससे पहले मीत माही के पास आकर माही को शादी के लिये प्रपोज करता है। माही को कुछ समझ नहीं आ रहा होता है की आखिर अचानक से ये सब क्या हो रहा उसके साथ। मगर उस वक्त माही को मीत की आंखों में इतना गहरा प्यार नजर आ रहा होता है की जिसे देख कर वो हाँ में सर हिला देती है , मीत उसी वक्त माही की मांग में सिंदूर भर देता है और माही को सीने से लगाकर कहता है , हमारा प्यार जिंदगी से बहुत बड़ा है और कोई भी चीज हमें कभी भी अलग नहीं कर सकती , मैं हमेशा तुम्हारे साथ रहूंगा। इस बीच माही की नजर उसकी रिपोर्ट कार्ड पर पड़ती है , माही वो रिपोर्ट कार्ड देखकर अपना होश खो बैठती है , वो खुद को संभाल नहीं पाती , माही को इस हाल में देखकर सब अपना हौंसला खोने लगते हैं । माही को ब्रैन केन्सर है और अभी वो लास्ट स्टेज पर है । एक खूबसूरत सी लड़की बहुत खुशनुमा जिंदगी जी रही होती है और अब उसके पास जिंदगी का बहुत ही कम समय है , ये जानकर वहाँ मौजूद सभी लोगों की आंखें नम हो जाती हैं , मीत की तो जान ही माही में बसती है , वो माही को इस हाल में देखकर खुद पल पल मरने लगता है , दुनियां की सारी शोहरत दौलत होते होये भी मीत और माही के घरवाले खुद को बहुत ही लाचार बेबस महसूस करते हैं क्योंकि चाहते हुये भी वो माही को बचा नहीं सकते हैं , मगर अब जितनी भी माही की जिंदगी बची है उसको मीत किसी भी अफसोस में खत्म नहीं होने देगा , मीत माही को खुश रखने के लिये वो सब कुछ करता है जिससे माही के चेहरे पर बस एक बार छोटी सी मुस्कुराहट ला सके , मीत माही की इतनी ज्यादा केरिंग इतना प्यार देता की धीरे धीरे माही अपने हर दर्द से उबरकर मीत के प्यार की आदी हो गयी । माही की केमोथेरेपी जब शुरू होती है तो उसके शरीर में एक भी बाल नहीं रहता, माही दिन ब दिन बहुत कमजोर होती जाती है , ऐसे में माही की जिंदगी के हर एक घटते दिन के साथ ही मीत के दिल में अपनी माही के लिये प्यार बढ़ता ही जाता है , माही का दर्द मीत से देखा नहीं जाता है वो बस माही के इस दर्द पर अपने प्यार का ही सहारा देता हमेशा। ऐसे में कभी कभी माही अपने नसीब को सोचकर बहुत हैरान होती की जब वो एक बहुत ही खूबसूरत जिंदगी जी रही थी तब क्यों वो इस प्यार को ना समझ पायी और आज जब उसकी जिंदगी की सारी खूबसूरती खत्म हो रही है तब सिर्फ और सिर्फ मीत का प्यार ही है जो उसकी बेरंग बेनूर जिंदगी को इतना खूबसूरत बनाये है की वो खुद अब इस जिंदगी से दूर नहीं जाना चाहती है ।
दोस्तों … क्या सच में प्यार इतना खुबसूरत इतना मुकम्मल होता है ? ? ?

Sharing is caring!

Loading...

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!