योग के ऐसे फायदे, जिसे वैज्ञानिक भी मानते हैं सही

शारीरिक, मानसिक और आध्‍यात्मिक अभ्‍यास के समूह को ही योग कहा जाता है। इसके अंतर्गत श्‍वसन व्‍यायाम, ध्‍यान और अलग-अलग प्रकार के आसन किए जाते हैं। नियमित रूप से योग का अभ्‍यास करने से मानसिक और शारीरिक रूप से कई फायदे  मिलते हैं, जिन्‍हें विज्ञान सही मानता है। इस लेख के माध्‍यम में हम आपको योग के ऐसे लाभ बता रहे हैं जिसे वैज्ञानिकों ने भी अपनी मंजूरी दी है।

तनाव दूर करता है योग

योग तनाव को दूर करने और शरीर को आराम देने के लिए जाना जाता है। कई अध्ययनों से पता चला है कि योग कोर्टिसोल (तनाव हार्मोन) के स्राव को कम कर सकता है। इस संबंध में 24 महिलाओं पर एक अध्‍ययन किया गया, जिसके अंतर्गत 3 महीने तक महिलाओं ने योग और ध्‍यान किया। तीन महीने के योग कार्यक्रम के बाद, महिलाओं में कोर्टिसोल के काफी कम स्तर थे। उनमें तनाव, चिंता, थकान और अवसाद के स्तर भी बिल्‍कुल कम थे।

शरीर को बनाता है लचीला

शरीर को लचीला और संतुलन सही रखने के लिए दिनचर्या में योग को शामिल करना सबसे अच्‍छा विकल्‍प है। हाल ही में एक कॉलेज के 26 पुरुष एथलीटों पर योग के 10 सप्‍ताह के प्रयोगों को अध्‍ययन किया गया। नॉर्मल व्‍यक्तियों की तुलना में योग करने वाले पुरुषों में लचीलापन और संतुलन ज्‍यादा पाया गया। अधिक उम्र के व्‍यक्तियों में भी योग के कई फायदे देखने को मिले हैं। योग से स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार पाया गया।

        ये भी पढ़े –  मन और बुद्धि में अंतर

अच्‍छी नींद दिलाए

खराब नींद या देर तक जागने वाले व्‍यक्तियों में मोटापा, उच्‍च रक्‍तचाप और अवसाद से जुड़ी कई तरह की समस्‍याएं देखने को मिलती है। अध्ययनों से पता चलता है कि योग को अपने दिनचर्या में शामिल करने से बेहतर नींद को बढ़ावा देने में मदद मिल सकती है। 2005 के एक अध्ययन में, 69 बुजुर्ग मरीजों को योग का अभ्यास करने के लिए कहा गया। जिसके बाद योग करने वाले इस समूह में लोगों को बेहतर नींद और आराम का परिणाम मिला।

पाचन शक्ति मजबूत करता है

अल्सर, इर्रिटेबल बोवेल सिंड्रोम, कब्ज का कारण तनाव होता है। यदि आप तनाव को कम कर देते हैं। इन सारी समस्‍याओं से छुटाकारा पा सकते हैं। योग, कब्ज को कम कर सकता है और सैद्धांतिक रूप से कोलन कैंसर के खतरे को कम कर सकता है। इसका वैज्ञानिक रूप से अध्ययन नहीं किया गया है। ऐसे आसान जो पुरी बॉडी को बीच से घुमा कर किया जाता है वह पेट की हर बीमारी को दूर कर सकते हैं। इससे पाचन शक्ति मजबूत होती है।

योग से बढ़ती है ताकत

नियमित योग करने से बॉडी की स्‍ट्रेंथ बढ़ाई जा सकती है। योग से बॉडी लचीली होने के साथ ताकत भी बढ़ता है। वास्तव में, योग में विशिष्ट आसन हैं जो ताकत बढ़ाने और मांसपेशियों का निर्माण करने के लिए डिजाइन किए गए हैं। एक अध्ययन में, 79 वयस्कों ने सूर्य नमस्कार के 24 चक्र किए। उन्‍होंने यह क्रिया निरंतर 24 सप्‍ताह तक सप्‍ताह में 6 दिन किए। जिसके बाद उन्होंने शरीर की ताकत, सहनशक्ति और वजन घटाने में उल्लेखनीय वृद्धि का अनुभव किया। साथ ही शरीर में वसा प्रतिशत में कमी भी आई।

आप भी अपनी दिनचर्या में योग और ध्‍यान को शामिल कर अपने शरीर को निरोग और जीवन को खुशहाल बना सकते हैं।

source of article

Sharing is caring!

Loading...

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!